विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस (World Computer Literacy Day) कब मनाया जाता है

 विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस (world computer literacy day) हर साल 02 दिसम्बर को मनाया जाता है। दुनिया कंप्यूटर और डिजिटल गैजेट पर काम करती है। वे जल्द ही रोजमर्रा की जिंदगी में एक जरूरी चीज बन गए है। कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस मनाया जाता है। इस दिवस में लोगो को प्राथमिक उपयोग से प्रोसेसिंग स्तर और उन्नत समस्या-समाधान से लेकर कौशल कौशल की एक श्रृंखला के साथ कुशलता से उनका उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करता है

यह भी पढ़ें:

👉 16 December  विजय दिवस 

विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस (World Computer Literacy Day) कब मनाया जाता है
विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस 

कंप्यूटर का नाम सुनते ही हमारे दिमाग में एक मशीन की छवि बनती है जिसमे डिस्प्ले मॉनिटर है, कीबोर्ड है, माउस है और एक सीपीयू (CPU) है। जी हाँ कंप्यूटर एक मशीन ही है हमारे लिए कैलकुलेशन करने का काम करती है लेकिन जब कंप्यूटर का अविष्कार हुआ था तब कंप्यूटर देखने में ऐसा नहीं था उसका स्वरूप कुछ अलग था, मानव के लिए गणना करना शरू से ही कठिन रहा है मनुष्य बिना किसी मशीन के एक सीमित स्तर तक ही गणना या कैलकुलेशन कर सकता है ज्यादा बड़ी कैलकुलेशन करने के लिए मनुष्य को मशीन पर निर्भर रहना पड़ता है इसी जरूरत को पूरा करने के लिए मनुष्य ने कंप्यूटर का निर्माण किया, यानि गणना करने के लिए।

यह भी पढ़ें:

👉 राष्ट्रीय युवा दिवस 

विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस कब और क्यों मनाया जाता है? - Computer Literacy Day

विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस प्रतिवर्ष 2 दिसंबर को मनाया जाता है। इसका उद्देश्य है - कंप्यूटर शिक्षा का प्रसार करना, लोगों को अधिक से अधिक कंप्यूटर शिक्षा में दक्ष बनानां। जैसा की हम सभी जानते है आज के समय में कंप्यूटर एजुकेशन हम सभी के लिए कितना जरुरी है।  

यह भी पढ़ें:

👉 गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है?

इसकी शुरुआत सबसे पहले भारतीय कंपनी NIIT - National Institute of Information Technology ने वर्ष 2001 में अपनी 20 वीं वर्षगांठ पर मानकर इसकी शुरुआत की यानि की सबसे पहले NIIT - National Institute of Information Technology ने अपनी 20 वीं वर्षगांठ पर 2001 में विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस को मनाया था और तब से आज तक हम सभी विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस - World Computer Literacy Day  2 दिसंबर को मानते है।

यह भी पढ़ें:

👉 Pulwama Attack 

सबसे पहला कंप्यूटर अबेकस 

लगभग 3000 वर्ष पूर्व अबेकस का निर्माण चीन के वैज्ञानिक ने किया था।एक आयताकार फ्रेम में लोहे की छड़ों में लकड़ी की गोलिया लगी रहती है जिसको ऊपर-निचे करके गणना या कैलकुलेशन की जाती थी। यानि यह बिना बिजली के चलने वाला पहला कंप्यूटर था। वास्तव में यह काम करने के लिए आपके हाथो पर निर्भर था। तो इसका अर्थ यह है जो बी मशीन गणना करने में आपकी मदद करती है वह एक कंप्यूटर होती है केवल आपके घर में रखा डिस्प्ले मॉनिटर, कीबोर्ड, मौसे और सीपीयू से बनी मशीन कंप्यूटर नहीं होती है।

यह भी पढ़ें:

👉 International Women's Day History in Hindi

कंप्यूटर की परिभाषा 

कंप्यूटर शब्द की उत्पत्ति कम्प्यूट (Comput) शब्द से हुई है जो कि एक लैटिन भाषा का शब्द है जिसका अर्थ होता है गणना करना। अब आप कहेंगे कि यह सब तो ठीक है लेकिन कंप्यूटर शब्द के लिए लैटिन भाषा की कंप्यूटर को ही क्यों इस्तेमाल किया गया तो इसके पीछे भी कारण है। कंप्यूटर के जनक चार्ल्स बैबेज जिनका जन्म लन्दन में हुआ था। वहां की आधिकारिक भाषा अंग्रेजी है तो अंग्रेजी से ही कोई शब्द क्यों नहीं लिया गया? इसकी वजह यह है की जो अंग्रेजी भाषा है उसके तकनीकी शब्द खासतौर पर प्राचीन ग्रीक भाषा और लैटिन भाषा पर आधारित है। इसलिए कंप्यूटर शब्द के लिए यानि एक ऐसी मशीन के लिए जप गणना करती है। उसके लिए लैटिन भाषा के शब्द कम्प्यूट (Comput) को लिया गया।

यह भी पढ़ें:

👉 23 March 1931 Shahid Diwas

कंप्यूटर शब्द की उत्पत्ति कम्प्यूट शब्द से हुई है जो कि लैटिन भाषा का का शब्द है जिसका अर्थ है गणना करना या कैलकुलेशन करना और कंप्यूटर को बनाया भी कैलकुलेशन करने के लिए ही था जो तेजी से अर्थमैटिक ऑपरेशंस को अंजाम दे सके। इसलिए इसे गणक या संगणक भी कहा जाता है, इसका अविष्कार Calculation करने के लिए हुआ था,पुराने समय में Computer का Use केवल Calculation करने के लिए किया जाता था, किन्तु आजकल इसका प्रयोग डाक्यूमेंट बनाने, E-mail, Listening and Viewing, Audio, Video, Play games, Data Base, Preparation के साथ-साथ और कई कामो में किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें:

👉 हिन्दू युवा वाहिनी स्थापना दिवस

Computer ठीक प्रकार से कार्य करने के लिए सॉफ्टवेयर (Software) और हार्डवेयर (Hardware) दोनों की आवश्यकता होती है। अगर सीधी भाषा में कहा जाये तो यह दोनों एक दूसरे के पूरक है। बिना Hardware के Software बेकार है और बिना Software के Hardware बेकार है। मतलब Computer Software से Hardware कमांड दी जाती है किसी Hardware को कैसे कार्य करना है उसकी उसकी जानकारी Software के अंदर पहले से ही डाली गयी होती है।Computer के CPU से कई प्रकार के हार्डवेयर जुड़े रहते है, इन सब के बीच तालमेल बनाकर Computer को ठीक प्रकार से चलाने का काम करता है System Software यानि Operating System. 

यह भी पढ़ें:

👉 Labour Day in India | Majdoor Diwas Kab Manaya Jata Hai

कंप्यूटर के लाभ और हानि 

कंप्यूटर एक छोटी सी लेकिन पावरफुल मशीन है, कई लोगों के लिए यह किसी जादू से कम नहीं, जो कई सारे काम एक साथ बिना थके कर सकती है, इसके कई लाभ है लेकिन इससे होने वाले नुकसान को भी अनदेखा नहीं किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें:

👉 World Press Freedom Day 2020 | विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाया जाता है

कंप्यूटर के लाभ 

आज हर जगह कंप्यूटर उपयोग बड़े पैमाने पर किया जा रहा है, इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि मनुष्य के मुकाबले बहुत बहुत तेज गति से कार्य करता है, यह बहुत बड़ी गणना को सेकेण्ड में कर सकता है। आज चीज कंप्यूटर पर उपलब्ध है, आप बहुत सारा Data कंप्यूटर में स्टोर कर सकते है और उसे कभी भी उपयोग में ला सकते है और अगर आपके पास इंटरनेट की सुविधा भी है तो आप क्लाउड स्टोरेज का उपयोग कर इंटरनेट पर भी अपने डाटा को सुरक्षित रख सकते है।

यह भी पढ़ें:

👉 Mothers Day क्यों मनाया जाता है 

आप कभी भी-कही भी  संपर्क में वीडियो कॉल, ई-मेल, सोशल नेटवर्किंग जैसे सुविधाओं के माध्यम से जुड़े रह सकते है। आप इंटरनेट पर कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकते है। बैंकिंग जैसी सुविधाओं में कंप्यूटर तकनीक का जबाब नहीं है, आप घाट बैठे-बैठे अपने मोबाइल फोन से या कंप्यूटर से किसी भी रूपये ट्रांसफर कर सकते है। आज मोबाइल रिचार्ज, बिजली का बिल जमा करने से लेकर ऑनलाइन शॉपिंग तक, यहाँ की हवाई जहाज तक कंप्यूटर द्वारा उड़ाये जा रहे हैं वह भी बिना कोई गलती किये।

यह भी पढ़ें:

👉 हिन्दी पत्रकारिता दिवस 30 मई को क्यों मनाया जाता है

शिक्षा और चिकित्सा के क्षेत्र में कंप्यूटर ने दुनिया को बदल दिया है, आप घर बैठे-बैठे ही बेस्ट टीचर्स/संस्थाओं से शिक्षा प्राप्त कर सकते है और किसी चिकित्सा की बात करें तो बुनिया के बेहतरीन डॉक्टर्स से इंटरनेट पर परामर्श ले सकते हैं और अब तो मेडिकल स्टोर जाने की भी जरुरत नहीं हैं आप घर बैठे ही दवाईयां भी ऑर्डर कर सकते है, चाहे वह आपके शहर में मिलती हो या नहीं।

यह भी पढ़ें:

👉 विश्व बाल श्रम निषेध दिवस कब और क्यों मनाया जाता है

कंप्यूटर आज के युग में बहुत महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है और ये हमारे रोजमर्रा के कार्यो को हमारी मदद भी कर रहा है। हम तेजी से बहुत सारे कामों को पूरा कर पाते है और और बहुत बड़ी खोजों में कंप्यूटर को वजह से हो रही है आने वाली युग में कंप्यूटर से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सिस्टम भी आने वाला है जिससे यह खुद की एक कृत्रिम सोच भी विकसित करेगा लेकिन फिर भी कंप्यूटर एक मशीन ही माना जायेगा , जिसका अविष्कार मनुष्य ने किया है अपने कार्यो को सरल बनाने के लिए और मनुष्य का एक स्तर ही तक ही कंप्यूटर पर निर्भर रहना ही सही है।

यह भी पढ़ें:

👉 विश्व रक्तदान दिवस क्यों और कब मनाया जाता है

कंप्यूटर के हानि 

जहाँ एक ओर कंप्यूटर लोगों को स्मार्ट बना रहा है वही दूसरी ओर इसका जरूरत से ज्यादा प्रयोग बीमार भी बना रहा है। कंप्यूटर और मोबाइल का अधिक प्रयोग स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो रहा है। मोबाइल और कंप्यूटर स्क्रीन पर ज्यादा लगातार देखते रहने से सबसे ज्यादा नुकसान आँखों को होता है। लोगों का मिलना जुलना बंद हो गया है, ज्यादा लोग किसी के घर जाकर मिलने से बेहतर उनसे सोशल नेटवर्किंग साईट जैसे Facebook और व्हाट्सएप चैट करना पसंद करते है, यहाँ तक की एक घर में रह रहे चार व्यक्ति भी अपने-अपने मोबाइल फोन से ही चिपके रहते है। 

यह भी पढ़ें:

👉 अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुरुआत कैसे और कब हुई?

बड़ी-बड़ी कंपनियों और फैक्ट्रियों में कई-कई मजदुर मजूदरों का काम कंप्यूटर और रोबोट करने लगे है, जिससे बेरोजगारी भो बढ़ी है। इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग सावधानी से न करने पर आपके पर्शनल डाटा चोरी रहने का खतरा रहता है, जिससे कई यूजर्स को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता है। इसी प्रकार सोशल नेटवर्किंग साईट पर भी सावधानी से काम न करने पर पर भी होता है।इंटरनेट के मध्यमा से ठगी बहुत बड़े पैमाने पर बढ़ गई है।

यह भी पढ़ें:

👉 स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को ही क्यों मनाया जाता है

शिक्षा के क्षेत्र में कंप्यूटर का योगदान 

आज आप घर बैठे ही ऑनलाइन किसी भी विषय के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है, जिससे वह बच्चे और विद्यार्थी जिसके शहर में वह कोर्स उपलब्ध नहीं है या जो बहार जाकर पढाई नहीं कर सकते है वह भी शिक्षा प्राप्त कर सकते है। कंप्यूटर भण्डारण और डाटा प्रबंधन के लिए सबसे बढ़िया साधन है। कंप्यूटर में आप अनेको पुस्तकों को डिजिटल फॉर्मेट में अपने साथ रख सकते है और कभी भी पढ़ सकते है। 

यह भी पढ़ें:

शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है 

विद्यार्थी अपने लिए जरूरी नोट्स तैयार करने में Microsoft Office  के टूल्स Microsoft Word, Excel और PowerPoint की सहायता ले सकते है । शिक्षक भी विद्यार्थी को प्रभावी ढंग से किसी भी विषय को समझने के लिए पावर पॉइंट प्रजेंटेशन बनाकर उन्हें समझा कर सकते है, लेकिन इसके लिए प्रोजेक्टर, इंटरनेट आदि व्यावहारिक ज्ञान लेना आवश्यक होगा।आप कही भी-कभी भी अपने दोस्तों के संपर्क में वीडिओ कॉल, ई-मेल, सोशल नेटवर्किंग जैसे सुविधाओं के माध्यम से जुड़े रह सकते है और किसी भी विषय पर चर्चा कर सकते है।

यह भी पढ़ें:

 अंतराष्ट्रीय साक्षरता दिवस क्यों और कब मनाया जाता है

आप इंटरनेट पर कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकते है। कंप्यूटर शिक्षा का एक अच्छा स्रोत है। शिक्षा के क्षेत्र में कंप्यूटर का बड़ा योगदान है। आज हर स्कूल और कॉलेज में कंप्यूटर लैब है। कंप्यूटर के माध्यम से अध्यापकों को  छात्रों को पढ़ने में सहायता मिली है।


दोस्तों आज की इस लेख में बस इतना ही था अगर आपको ये लेख पसंद आई है तो हमें कमेंट करके बताएं कैसा लगा  और आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर FACEBOOK और TWITTER पर Share कीजिये और ऐसे ही नई जानकारी पाने के लिए हमें SUBSCRIBE जरुर करे।

🙏 धन्यवाद 🙏

Reactions

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां